World Population Day 2021 | विश्व जनसंख्या दिवस कब और कैसे मनाया जाता है ?

आज 11 जुलाई है और इस दिन को World Population Day विश्व जनसंख्या दिवस के रूप के मनाया जाता है इसकी शुरुवात 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की काउंसिल गवर्निग द्वारा किया गया था तभी से आज तक इसे World Population Day के रूप में मनाया जाता है।


विश्व में आज के समय में कोई ज्यादा परेशानी है तो है जनसंख्या बढ़ोतरी । जिसके वजह से अनेकों समस्या उत्पन्न हो गई है। वार्ल्डोमिटरर्स के मुताबिक वर्तमान समय में विश्व की कुल जनसंख्या 7 अरब 87 करोड़ 85 लाख से भी ज्यादा है और हर दिन लाखों की जनसंख्या में बढ़ोतरी हो रही है।
जनसंख्या की दृष्टि से विश्व में पहले स्थान पर चीन और दुसरे पर भारत है आज के समय में चीन की कुल आबादी 1 अरब 45 करोड़ के आस-पास है वहीं भारत की आबादी 1 अरब 39 करोड़ के आस-पास है।

जनसंख्या वृद्धि को रोकने के उपाय(World Population Day)

world population day sachchi kahani
वर्ल्ड पॉपुलेशन डे

जनसंख्या वृद्धि को कम करने के लिए सरकार कई तरह के परिवार नियोजन कार्यक्रम चला रही है, लेकिन इन सब के बाउजुद भी जनसंख्या रुकने नाम नहीं ले रहा है। सरकार को चाहिए कोई सख्त कदम उठाए और देश के लोगों को भी चाहिए की अपने स्तर पर इस अति संवेदनशील विषय पर कार्य करें और जनसंख्या रोकने में सहयोग करें।

विश्व जनसंख्या दिवस 2021 की थीम क्या है ?

world population day

इस वर्ष वैश्विक स्तर पर यौन और प्रजनन स्वास्थ्य और प्रजनन व्यवहार पर Covid-19 महामारी पर प्रकाश डालने के लिए World Population Day मनाया जायेगा।

किस तरह मनाया जाता है विश्व जनसंख्या दिवस?

इस दिन पूरी दुनिया में जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए तरह-तरह से उपायों से लोगों को परिचित कराया जाता है। इसके अलावा परिवार नियोजन के मुद्दे पर भी बातचीत की जाती है। इस दिन जगह-जगह जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम होते हैं और उन कार्यक्रमों के जरिये लोगों को जागरूक करने की कोशिश की जाती है, ताकि बढ़ती जनसंख्या पर लगाम लगाई जा सके।

जनसंख्या दिवस क्यों मनाया जाता है ? इसका उद्देश्य क्या है ?

विश्व जनसंख्या दिवस इस लिए मनाया जाता है वर्ष 1987 में विश्व की जनसंख्या 5 अरब हो गई थी जिसको रोकने के लिए 11 जुलाई 1989 से इसकी शुरुवात हुई और तरह तरह के कार्यक्रम कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसका उद्देश्य बढ़ती हुई जनसंख्या पर लोगों को जागरूक करना और परिवार नियोजन जैसे कार्यक्रम को सफल बनाना है।

जनसंख्या वृद्धि के दुष प्रभाव क्या हैं ?

आज देश ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में रोजगार एक महत्वपूर्ण सवाल बन गया है लगातार जनसंख्या बढ़ने से बच्चों को शिक्षा का नहीं मिलना, बेरोजगारी बढ़ना, स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध न होना, भुखमरी का शिकार होना इत्यादि बहुत ऐसे समस्या है जिससे देश ही नहीं बल्कि पूरा विश्व जूझ रहा है।

ये भी जरूर पढ़े👉 स्त्री विशेष कहानी अनचाही बेटी या Unwanted Daughter.

World Population Day पर हमारा देश के सभी भाइयों और बहनों से अपील

world population day pic 2
जनसंख्या का दृश्य

जनसँख्या वृद्धि देश ही नहीं बल्कि हर परिवार की समस्या बन गई है क्योंकि आज के समय में रोजगार की स्थिति सही नहीं है जिसके वजह से हर परिवार में जो मुलभुत आवश्यकता है उससे भी लोग वंचित रह जा रहे हैं आज देश की स्थिति ऐसी बानी हुई है की अगर आज से कड़े कदम इस मामले में नहीं उठाया गया तो अगले कुछ वर्षो में लोग भूख से मरने लगेंगे।
मैं इस ब्लोग्स के माध्यम से देश के हर उस युवा से निवेदन करना चाहता हूँ की आज से ही हमसब यह प्रण ले की इस समस्या से लड़ने में हम सरकार के साथ नहीं बल्कि दो कदम आगे चल कर इस समस्या का समाधान निकालेंगे और

हम दो हमारे दो नहीं बल्कि हम दो हमरे एक का नारा है

ऐसे ही सच्ची घटना को कहानी के मध्याम से पढ़ने के लिए आप हमारे इस web page को लाल वाली घंटी बजाकर सब्सक्राइब कर सकते हैं जिससे आपको हमारे page पर अपलोड की गई कहानी का नोटिफिकेशन सबसे पहले आपको मिले। अगर ये कहानी आपको अच्छी लगी हो तो आप इस कहानी को अपने दोस्तों को टैग करते हुए Facebook Whatsapp पर शेयर कर सकते हैं.

🙏
धन्यवाद
President Of India Draupadi Murmu Devar Bhabhi Romance Story Indian Cricketer Hardik Pandya Bollywood Actress Hina Khan Letest Photo
%d bloggers like this: