World Heritage Day On 18 April History Significance Purpose And Theme

World Heritage Day On 18 April हर साल 18 अप्रैल का दिन दुनियाभर में ‘विश्व विरासत दिवस‘ (World Heritage Day) के रूप में मनाया जाता है। विरासत दिवस के मानाने के पीछे सिर्फ एक ही सोच है की जो भी ऐतिहासिक और नेचुरल धरोहर हैं अरे में जानने और उनका संरक्षण जानकारी प्राप्त करना। इसके अलावा यह दिन दुनिया के अलग-अलग देशों में स्थित ऐसे स्थलों की जानकारी भी देना है जिससे उन्हें इन विरासत के प्रति आकर्षित किया जा सके।


नमस्कार 🙏  मैं आप सबको अपने सच्ची कहानी इस पेज में आप सबका स्वागत करता हूं आप सब को अगर मेरे द्वारा प्रस्तुत की गई कहानी अच्छी लगी हो और उससे आप को कोई जानकारी प्राप्त हुई हो तो आप अपने दोस्तों में और Facebook पर शेयर करें। अगर आप चाहते हैं की कोई भी कहानी छूटे नहीं तो आप हमारे Web Page को नीचे दिए घंटी को दबाकर जरूर SUBSCRIBE करें.

Mahatma Gandhi Death Story Hindi | 30 January 1948 को क्या हुआ था Gandhi ji और Godse के बीच पूरी कहानी पढ़ें

World Heritage Day On 18 April (विश्व विरासत दिवस)

World Heritage Day On 18 April
India Heritage Place

विश्व धरोहर दिवस को साल 1982 में 18 अप्रैल के दिन मनाने करने की घोषणा की गई थी और इसके 1 साल बाद ही यानी साल 1983 में यूनेस्को महासभा ने इसे पूरी तरह से मान्यता दे दी, जिससे लोगों में सांस्कृतिक विरासत के महत्व को लेकर जागरूकता बढ़े और वो इसे देखने के साथ ही इसके संरक्षण को लेकर भी अपनी जिम्मेदारी समझें। साल 1982 में 18 अप्रैल के दिन इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ मोनुमेंट्स एंड साइट के द्वारा पहला ‘विश्व विरासत दिवस’ ट्यूनीशिया में सेलिब्रेट किया गया था।

List of Top 5 World Heritage Sites in India

भारत के टॉप 5 धरोहर जो विश्व के सीते पर अंकित है उनका नाम निम्नलिखित है

1. Taj Mahal (ताजमहल)

World Heritage Day On 18 April
Taj Mahal

Taj Mahal भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तरप्रदेश के आगरा शहर में यमुना नदी के दाहिने किनारे पर स्थित सफ़ेद संगमरमर से बना एक मकबरा है इसे 1632 में मुगल सम्राट शाहजहाँ ने अपनी खूबसूरत और पसंदीदा पत्नी मुमताज की याद में बनवाया था जहाँ इसके अंदर मुमताज और शाहजहाँ का कब्र भी है ये मकबरा 17-हेक्टेयर (42-एकड़) परिसर का केंद्रबिंदु है, जिसमें एक मस्जिद और एक गेस्ट हाउस शामिल है, और यह औपचारिक बगीचों में स्थापित है जो तीन तरफ से एक दीवार से घिरा हुआ है। यह विश्व धरोहर के मंच पर भारत में सबसे पहले आता है।

2. Qutub Minar (कुतुब मीनार)

World Heritage Day On 18 April
Qutub Minar In 1805

Qutub Minar का निर्माण दिल्ली सल्तनत के पहले शासक कुतुब-उद-दीन ऐबक द्वारा 1192 के आसपास शुरू किया गया था। कुतुब मीनार ढिल्लिका के गढ़, लाल कोट के खंडहरों पर बनाया गया था। कुतुब मीनार कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद के बाद शुरू हुई थी। दिल्ली में पर्यटकों द्वारा देखे जाने वाला सबसे अधिक है इसके परिसर में एक और मीनार है जिसका नाम विजय मीनार है जो तोमर राजपूतों द्वारा बनाया गया था.

3. Konark Sun Temple

World Heritage Day On 18 April
Full View Konark Sun Temple

Konark Sun Temple उड़ीसा राज्य के पूरी जिले के उत्तर पूर्व में समुद्री तट पर स्थित है इस मंदिर का निर्माण 13 वीं शताब्दी (वर्ष 1250) गंगा वंश के राजा नरसिंहदेव द्वारा किया गया था हिन्दू धर्म के इष्ट देवता भगवन सूर्य को यह मंदिर समर्पित है वर्तमान समय में मंदिर की अधिकांश भाग खँडहर हो चूका है लेकिन जो भी बचे हैं वो देखने लायक है इस मंदिर में एक बड़ा से पहिया है जो समय को बताता है और आज भी वो सटीक समय बताता है.

4. Monuments of Khajuraho

World Heritage Day On 18 April

Monuments of Khajuraho

5. Mahabodhi Temple 

Mahabodhi Temple का निर्माण सम्राट अशोक द्वारा लगभग २६० इसा पूर्व कराया गया था यहाँ सिद्धार्थ गौतम जो की एक राजकुमार थे उन्होंने दुनिया की मोह माया और सांसारिक सुख को त्याग कर शांति के तलाश भटकते भटकते बिहार के गया जिले में फल्गु नदी के किनारे जा पहुंचे वहां एक पीपल के पेड़ के निचे बैठे जहाँ उनको ज्ञान की प्राप्ति हुई जो बाद में बोधि वृक्ष के नाम से जाना जाने लगा विश्व में सबसे बड़ा बौद्ध मंदिर भी है यहां दुनिया भर के बौद्ध धर्म के लोग शांति के लिए आते हैं

World Heritage Day On 18 April
Mahabodhi Temple

World Heritage Day 2022 Theme

प्रत्येक वर्ष के शुभ अवसर पर ICOMOS (International Council on Monuments and Sites) अपने सदस्यों, इंटरनेशनल वैज्ञानिक समितियों, कार्य समूहों और भागीदारों द्वारा आयोजित की जाने वाली एक्टिविटीज़ के लिए एक थीम रहता है। इस वर्ष भी World Heritage Day 2022 के शुभ अवसर पर थीम है- “धरोहर और जलवायु”.

World Heritage Day FAQ

Why is World Heritage Day celebrated? (विश्व विरासत दिवस क्यों मनाया जाता है?)

इस दिन को अपने सांस्कृतिक विरासत के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है इस मैंने का मुख्य उद्देश्य ऐतिहासिक स्मारकों और स्थलों के बारे में लोगों को अधिक से अधिक जानकारी देना है ताकि वो अपने विरासत को भूल न जाएँ.

When and who started World Heritage Day? (विश्व विरासत दिवस की शुरुआत कब और किसने की?)

World Heritage Day यूनेस्को ने पेरिस स्थित स्मारक और स्थलों पर अंतर्राष्ट्रीय परिषद के एक प्रस्ताव को 18 अप्रैल 1982 को अपनाया था। इस प्रस्ताव अपने संस्कृति और विरासत को बढ़ावा देने और उसकी सुरक्षा करने की बात की गई थी तब से प्रत्येक वर्ष को विश्व विरासत दिवस मनाया जाता है.

Which is the first World Heritage Site in India? (भारत का पहला विश्व धरोहर स्थल कौन सा है?)

World Heritage Day 2022 विश्व स्तरीय सम्मलेन में भारत ने 14 नवंबर 1977 को इस सम्मेलन को स्वीकार कर लिया, जिससे उसकी साइटों को सूची में शामिल करने के योग्य बना दिया गया। अंकित किए जाने वाले पहले स्थल अजंता की गुफाएं, एलोरा की गुफाएं, आगरा का किला और ताजमहल थे, जिनमें से सभी को विश्व धरोहर समिति के 1983 के सत्र में अंकित किया गया था.

How many heritage are there in India? (भारत में कितनी विरासत हैं?)

वर्तमान समय में भारत में 40 विश्व धरोहर स्थल स्थित हैं। इनमें से 32 सांस्कृतिक हैं, 7 प्राकृतिक हैं, और 1 मिश्रित है (सांस्कृतिक और प्राकृतिक दोनों मानदंडों को पूरा करता है), जैसा कि संगठन के चयन मानदंड द्वारा निर्धारित किया जाता है। भारत में दुनिया की छठी सबसे बड़ी साइटें हैं।

President Of India Draupadi Murmu Devar Bhabhi Romance Story Indian Cricketer Hardik Pandya Bollywood Actress Hina Khan Letest Photo
%d bloggers like this: