Vishwkarma Puja | Vishwkarma Puja Date 2022 | विश्वकर्मा जयंती विशेष,पूजा मुहूर्त,पूजा विधि | Vishwkarma Puja Whatsapp Status

Vishwkarma Puja हिन्दु धर्म के पौराणिक मान्यताओं के अनुसार जगत के रचैयता श्री विश्वकर्मा भगवान को माना जाता है श्री विश्वकर्मा जी की पूजा प्रत्येक वर्ष 17 सितंबर को मनाई जाती है इस वर्ष भी 17 सितंबर दिन शुक्रवार को विश्वकर्मा जयंती मनाई जाएगी तो आइए जानते हैं की विश्वकर्मा पूजा कैसे होती है और कब से शुरू हुई…

Vishwkarma Puja History विश्वकर्मा जयंती विशेष

Vishwkarma Puja

पौराणिक और धार्मिक के अनुसार बताया जाता है की प्राचीन काल में जितनी भी राजधानियां थीं उन सब का निर्माण श्री विश्वकर्मा जी ने किया था यहां तक की सतयुग में स्वर्ग लोक, त्रेता में लंका, द्वापर में द्वारिका, कलयुग में हस्तिनापुर आदि का निर्माण श्री विश्वकर्मा जी ने ही किया था इसलिए बाबा श्री विश्वकर्मा जी को दुनिया का पहला और सबसे बड़ा इंजीनियर कहा जाता है। श्री विश्वकर्मा जी के बारे में यह भी कहा जाता है कि सुदमापुरी के तत्क्षण रचना श्री विश्वकर्मा जी की हीं देन है।

Vishwkarma Puja Vidhi विश्वकर्मा पूजा की विधि

Vishwkarma Puja

Vishwkarma Puja At Homeविश्वकर्मा पूजा की विधि सरल और आसान है, इस दिन फैक्ट्री, गाड़ी, कल कारखानों जो मशीनरी हो सभी जगह पूजा होते हैं पूजा के दिन सभी वस्तु जो विश्वकर्मा पूजा से संबंधित हो उसे साफ कर इसके बाद जो व्यक्ति या श्रोता हैं वो भी नहा धोकर सफेद या पीला वस्त्र पहन लें इसके बाद जिस स्थान पर पूजा करनी है वहां श्री विश्वकर्मा जी की प्रतिमा या तस्वीर स्थापित करें। अब जिन चीजों को पूजा करनी है उन पर और श्री विश्वकर्मा जी पर रोड़ी, घी, फूल, अक्षत, चंदन, कसैली, अगरबती, पान के पता, दही, प्रसाद आदि बारी बारी से अर्पित करें और घी के दिया जला कर आरती करें।

इसके बाद कलश पर हल्दी,चावल के साथ रक्षासुत चढ़ाए और इसके बाद पूजा में ‘ॐ आधार शक्तपे नम: और ॐ कूमयि नम:’, ‘ॐ अनन्तम नम:’, ‘पृथिव्यै नम:’ का उच्चारण करें और अंत में आरती कर प्रणाम करें और प्रसाद वितरण करें

भगवान श्री विश्वकर्मा पूजा का महत्व

विश्वकर्मा पूजा का महत्व व्यक्ति के जीवन में बेहद ही मतवपूर्ण है कहा जाता है की जिस व्यक्ति के जीवन धन धान्य की कमी हो उसे सच्चे मन से श्री विश्वकर्मा जी की अर्धना करने से उसके जीवन में कभी किसी चीज की कमी नहीं होती है।

Vishwkarma Puja Date And Time 2022 (विश्वकर्मा पूजा शुभ मुहूर्त और समय)

Vishwkarma Puja Date And Time 2022 हिन्दू पंचाग के अनुसार विश्वकर्मा जयंती कन्या सक्रांति के दिन मनाई जाती है और अंग्रेजी महीने के अनुसार 17 सितंबर के दिन श्री विश्वकर्मा पूजा की जाती है 2022 में विश्वकर्मा पूजा 17 सितंबर दिन शुक्रवार को होगा जिसका शुभ मुहूर्त सुबह 6:30 से लेकर 18 सितंबर शाम 03:36 मिनट तक रहेगा इस दौरान 17 सितंबर को सुबह 10:30 से दोपहर 12 बजे तक राहु काल रहेगा इसलिए इस बीच भूल कर भी पूजा न करें।
इन्हें भी जरूर पढ़ें👇

Vishwkarma Puja Whatsapp Status In Hindi, Wishes, Quotes, Slogan

Vishwkarma Puja Whatsapp Status In Hindi

निर्बल हैं तुम से बल मांगते, करुणा के प्रयास से जल मांगते,श्रद्धा का प्रभु जी फल मांगते,आप से प्रभु हम उन्नति और तरक्की का आशीष मांगते। विश्वकर्मा पूजा की हार्दिक बधाई।

ओम आधार शक्तपे नम:,ओम कूमयि नम:,ओम अनन्तम नम:,पृथिव्यै नम: Vishwkarma Puja Wishes In Hindi

अद्भुत सकल सृष्टी कर्ता, सत्य ज्ञान सृष्टी जग हित धर्ता, अतुल तेज तुम्हारो जगमाही, कोई विश्वमही जानत नाही। विश्वकर्मा पूजा की शुभकामनाएं।

श्री विश्वकर्मा प्रभु वंदु; चरण कमल धरी ध्यान;
श्री शंभू बल अरु श्रीप गुण; दीजे दया निधान।
Happy Vishwkarma Puja 2021

ॐ विश्वकर्मणे नमः
निर्बल हैं तुझसे बल मांगते हैं;
करुणा का प्रयास से जल मांगते हैं;
श्रद्धा का प्रभु जी फल मांगते हैं।
विश्वकर्मा पूजा की शुभकामनाएं Happy Vishwkarma Puja 2021

करते पूजा हम प्रभु विश्वकर्मा की,
सदा हम पर इनायत रहे मेरे खुदा की,
जन्म-जन्म से हम उनको करते हैं याद,
दिल से हरदम करते विश्वकर्मा की फरियादVishwkarma Jyanti ki Hardik Badhai

ऐसे हीं सच्ची कहानी के लिए आप हमारे Web Page को लाल वाली घंटी बजा कर Subscribe कर लीजिए ताकि जब भी मैं कहानी आपके लिए लाऊं तो सबसे पहले आप पढ़ें और अगर पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें। आप हमें किसी पोस्ट से संबंधित या कोई अन्य कहानी पढ़ने के लिए आप DM (Direct Massage) 👉  Instagram किसी पर भी कर सकते हैं।

President Of India Draupadi Murmu Devar Bhabhi Romance Story Indian Cricketer Hardik Pandya Bollywood Actress Hina Khan Letest Photo
%d bloggers like this: