Ahilya Bai Story In Hindi | Story Of Ahilya Bai Holker In Hindi (1725-1795)

Ahilya Bai Story In Hindi आज आप सब के बीच एक ऐसी महान विभूति की कहानी लेकर आया हूं जिसकी संघर्ष और बलिदान की जो गाथा है उसे हम सभी को सुनना और उसको अपने जीवन में उतारने की आवश्यकता है। आज जो नारी अपने दुःख तकलीफ़ देख कर अपने आप को गलत रास्ते की ओर ले कर जा रहीं हैं उन्हें माता अहिल्या बाई होल्कर की जीवनी जरूर पढ़नी चाहिए और तब उन्हें अपनी शक्ति का एहसास होगा उम्मीद करता  हूं कि आप ऐ कहानी अच्छी लगेगी और आप इसे जरूर शेयर कीजिएगाा….

नमस्कार 🙏  मैं आप सबको अपने सच्ची कहानी इस पेज में आप सबका स्वागत करता हूं आप सब को अगर मेरे द्वारा प्रस्तुत की गई कहानी अच्छी लगी हो और उससे आप को कोई जानकारी प्राप्त हुई हो तो आप अपने दोस्तों में और Facebook पर शेयर करें। अगर आप चाहते हैं की कोई भी कहानी छूटे नहीं तो आप हमारे Web Page को नीचे दिए घंटी को दबाकर जरूर SUBSCRIBE करें.

Ahilya Bai Holker History अहिल्या बाई होल्कर का इतिहास

Ahilya Bai Holkar

भारत के इतिहास में एक ऐसी नारी जन्म ली जिन्होंने अपने जीवन में बहुत से उतार चढ़ाव देखें मैं ये नहीं कहता की सिर्फ एक हीं या जिनके बारे में जानकारी देने जा रहा हूं वही हो सकती हैं। इस दुनिया और भारत के धरती पर अनेकों ऐसी बेटियां पैदा लीं जिन्होंने अपने जीवन काल में अनेकों कार्य किए और जहां भी रहीं वो अपना सकारात्मक योगदान दीं हैं। आज हम आने इस आर्टिकल के माध्यम से Ahilya Bai Holker History को जानेंगे.

Ahilya Bai Holker Biography अहिल्या बाई होल्कर की जीवन परिचय

Ahilya Bai Holker Biography में अहिल्या बाई का जन्म महाराष्ट्र के छोटे से गांव चौंढ़ी में एक विद्वान व्यक्ति मान्कोजी शिंदे के घर 31 मई 1725 ई० को हुआ था इनके पिता और माता जी बेहद सुलझे हुए इंसान थे जिसके कारण हीं इन्होंने उस जमाने में जब महिलाओं को शिक्षा देना या शिक्षा ग्रहण करना अपराध माना जाता था।

       उस समय इनके माता पिता ने अहिल्या बाई को शिक्षा दी जिसे अहिल्या बाई ने भी अपने जीवन में उस शिक्षा का सदुपयोग किया और अपने नाम और शोहरत हासिल किया। अहिल्या बाई बचपन से हीं बेहद चंचल और दयालु स्वभाव की लड़की थी फिर जैसे जैसे समझदारी और जिम्मेदारी बढ़ी वैसे वैसे इनकी छवि और भी बेहतर होती चली गई। 

पुरा नाम अहिल्या बाई होल्कर
जन्म तिथि 31 मई 1725 ई०
जन्म स्थान चौंढ़ी, महाराष्ट्र
पिता का नाम मान्कोजी शिंदे
माता का नाम सुशीला शिंदे
धर्म हिन्दू
शादी की वर्ष 1733 ई०
पति का नाम खांडेराव होल्कर
बच्चे का नाम पुत्र: मलेरव
पुत्री: मुक्तााबाई
राजवंश मराठा साम्राज्य
सम्मान डाक टिकट
Chart1

अहिल्या बाई के शादी की कहानी (Ahilya Bai Story In Hindi)

अहिल्या बाई की शादी की कहानी भी दिलचस्प है कहा जाता है की एक बार राजा मल्हार राव होल्कर कहीं जा रहे थे तो उन्होंने चौंढ़ी गांव से रास्ता जा रही थी तो उन्होंंने चौंढ़ी गांव में आराम करनेे

x
x
क्यों लगाया जाता है Bhai Dooj पर तिलक Happy Diwali Wishing Status, Quotes, Stories Nora Fatehi अपने Boyfriend के साथ नजर आईं Priya Prakash Varrier का Hot अवतार
%d bloggers like this: